What is Frame Relay : फ़्रेम रिले क्या है?

social media

आज की इस पोस्ट में हम जानेगे की What is Frame Relay-फ़्रेम रिले क्या है? और Frame Relay कैसे काम करता है? हम Frame Relay Operation के पीछे की Concepts  के साथ-साथ उपयोग की जाने वाली Terminologies पर चर्चा करेंगे?

 Frame Relay

What is Frame Relay-फ़्रेम रिले क्या है?

Frame Relay एक WAN Protocol है जो OSI Model की Layer 1 और Layer 2 पर काम करता है फ़्रेम रिले में कम उपकरण, आसान कार्यान्वयन और कम जटिलता का उपयोग करके लागत कम की जाती है, इसके बावजूद, एक ग्राहक के लिए Leased Connections की तुलना में High Bandwidth, Reliability  और अधिक लचीलापन प्राप्त करना संभव है। फ़्रेम रिले  एक Packet-Switching Telecommunication Service है जो Local Area Network और Wide Area Network (WAN) में Endpoints के बीच Intermittent Traffic के लिए Cost-Efficient Data Transmission के लिए डिज़ाइन की गई है।

Frame Relay  एक Variable-Size  की इकाई में डेटा डालता है जिसे फ़्रेम कहा जाता है और एंडपॉइंट्स तक किसी भी आवश्यक त्रुटि सुधार को छोड़ देता है, जो समग्र डेटा ट्रांसमिशन को गति देता है। फ़्रेम रिले का उपयोग अक्सर LAN को प्रमुख बैकबोन के साथ-साथ Public Wide Area नेटवर्क पर और Private Network Environments With leased पर T-1 लाइनों के साथ जोड़ने के लिए किया जाता है।

यह अधिक सुरक्षित भी है, क्योंकि सार्वजनिक इंटरनेट पर डेटा भेजने के बजाय, इसे Private VC Network पर भेजा जाता है। यह तकनीक आज ज्यादातर Large Corporations द्वारा उपयोग की जाती है, ताकि उच्च स्तर पर और सुरक्षित तरीके से लैन के विभिन्न परिसरों में डेटा भेजा जा सके।

friend good friend who?

Powerful Women 

Success story success motivational story

Praise the gods

11 such stories of Mahabharata 

Mandodari-Lament, Ravan’s funeral

Various key features of this protocol are as follows:

  • The call control packets are used for setting up and clearing virtual circuits.
  • In-band signaling is used.
  • Multiplexing of virtual circuits takes place at layer 3.
  • Layer 2 and 3 include flow control and error control.

Characteristics of Frame Relay

  • फ़्रेम रिले एक ऐसी Service जो Data Transport को Supports करती है।
  • फ़्रेम रिले एक Connection less service है, जिसका अर्थ है कि नेटवर्क से गुजरने वाले प्रत्येक डेटा पैकेट में Address की जानकारी होती है।
  • फ़्रेम रिले एक ऐसी सेवा है जो 56 Kb से लेकर 25 Mbs तक की Speeds Provided  करता है।
  • फ़्रेम रिले को Broadband ISDN service considered किया जाता हैं।
  • फ़्रेम रिले variable size data packets को भी सपोर्ट करता है।
  • फ़्रेम रिले केवल physical और data link layer में काम करता है। इसलिए इसे इंटरनेट में आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • फ़्रेम रिले केवल Error को Detect कर सकता है ( At Data Link Layer) लेकिन कोई Flow Control या Error Control नहीं।

Frame Format

Frame Relay में उपयोग किया जाने वाला Frame Format

  • The DLCI length is 10 bits
  • There are two EA locations. The value of the first one is fixed at 0 and the second at
  • 1 is set in the DE (Discard Eligibility) for the part that can be discarded first when congestion occurs
  • The data size may vary up to 4096 bytes.

Frame relay layers

Frame Relay में केवल दो लेयर होती है Physical Layer और Data Link Layer

Physical layer

  • Frame relay ANSI Standards को Support करता है।
  • Physical Layer के लिए कोई विशिष्ट प्रोटोकॉल Defined नहीं किया गया है। उपयोगकर्ता किसी भी प्रोटोकॉल का उपयोग कर सकता है जिसे ANSI  द्वारा मान्यता प्राप्त है।

Datalink layer

  • HDLC  का एक Simplified Version Data Link Layer पर फ्रेम रिले द्वारा नियोजित किया जाता है।
  • एक Simplified Version  का उपयोग इसलिए किया जाता है क्योंकि फ़्रेम रिले में Flow Controlऔर Error Correction की आवश्यकता नहीं होती है।

नेटवर्किंग में फ्रेम रिले की क्या आवश्यकता है?

Network में फ़्रेम रिले का उपयोग कई कारणों से किया जा रहा है। कुछ महत्वपूर्ण कारण इस प्रकार हैं आइए एक-एक करके इन बिंदुओं पर चर्चा करें।

1. Higher Data Rates

  • यह Bursty Data  के Transfer  की अनुमति देता है।
  • यदि physically distant के स्थानों पर स्थित LAN को एक दूसरे से जोड़ा जाना है तो ऐसा करने के लिए दो विकल्प उपलब्ध हैं।Interconnect them using the T lines और Interconnect using the frame relay
  • The frame relay network can handle data rates up to T-3 transmission i.e. 44.376 Mbps.

2. Can handle bursty data:

  • The data being sent from a source to a destination is not of a continuous/constant nature.
  • Instead, it is bursty in nature. That means a large amount of data (data burst) is sent suddenly, then for some time there is very little or no data.
  • The T-lines are not equipped to handle such burst data because they offer a constant data rate.
  • The frame relay can tackle this problem. It supports a minimum average data rate and can handle the burst data.

3. Lower overheads:

  • In the frame relay network, there are no acknowledgments sent from the switches back to the sender.
  • There is no intermediate error check. The error checking takes place only at the destination.
  • The intermediate host/switch does not keep a copy of the packet forwarded to the next host/switch. This saves a lot of memory space for the hosts and switches.
  • All this leads to reduced overheads.

Conclusion : Frame Relay

दोस्तों आज की इस पोस्ट से हमने सीखा की फ़्रेम रिले क्या है? Frame Relay प्रोटोकॉल Network में क्यों इस्तेमाल किया जाता है और फ़्रेम रिले की क्या विशेषता है? 

To get every information like our Facebook page where you are provided with the right information. Click here to like our FACEBOOK PAGE.

Leave a Reply